दुनिया की 5 ऐसी घटनाएं जिनका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

मानव इतिहास में मानव ने काफी सारी तरक्की कर ली है। अणु, परमाणु और गॉड पार्टिकल खोजने से लेकर ग्रह-उपग्रहों पर जाना और सोलर सिस्टम से बाहर यान भेजने जैसे कई महान कार्य कर चुका है। लेकिन अभी भी कुछ सवाल ऐसे हैं जिनका जवाब साइंस भी नहीं ढूंढ पाया है। आज के इस आर्टिकल में हम ऐसे ही 5 सवालों के बारे में बात करेंगे। क्या भगवान है हम ईश्वर को कई नामों से जानते हैं। जैसे कि गॉड, अल्लाह, भगवान, खुदा लगभग सभी मनुष्य यही मानते हैं कि इस सृष्टि का निर्माण ईश्वर ने ही किया है। परंतु वैज्ञानिकों में इस बात का हमेशा ही मतभेद होता रहा है।

कुछ वैज्ञानिक ईश्वर को मानते हैं तो कुछ नहीं मानते हैं। साइंस के अनुसार लगभग 14 अरब साल पहले एक बिगबैंग नामक भयंकर विस्फोट हुआ था, जिससे इस ब्रम्हांड का निर्माण हुआ। परंतु यह बिगबैंग क्यों हुआ और इससे पहले क्या था। इस सवाल का उत्तर विज्ञान के पास नहीं है।

कुछ वैज्ञानिक ईश्वर को मानते हैं तो कुछ नहीं मानते हैं। साइंस के अनुसार लगभग 14 अरब साल पहले एक बिगबैंग नामक भयंकर विस्फोट हुआ था, जिससे इस ब्रम्हांड का निर्माण हुआ। परंतु यह बिगबैंग क्यों हुआ और इससे पहले क्या था। इस सवाल का उत्तर विज्ञान के पास नहीं है।

hindi may latest news

ब्लैक होल के अंदर क्या है जिनको ब्रह्मांड के बारे में जानने की इच्छा है उन्होंने एक ना एक बार दो ब्लैक होल के बारे में जरूर सुना होगा। ब्लैक होल में गुरुत्वाकर्षण की शक्ति इतनी अधिक होती है कि ये लाइट को भी अपनी ओर खींच लेता है। यानी अगर आप किसी टॉर्च से ब्लैक होल के ऊपर से दूसरी तरफ प्रकाश भेजने की सोचेंगे तो आपकी टोर्च की रोशनी सीधे ना जाकर मुड़ जाएगी और नीचे ब्लैक होल में चली जाएगी।

hindi may latest news

पिछले कुछ दशकों में हमने ब्लैक होल के बारे में काफी अध्ययन किया मगर अभी तक हम यह नहीं जानते कि ब्लैक होल के उस पार क्या है। आइंस्टाइन के अनुसार ब्लैक होल और अनंत रूप तक छोटा होता चला जाता है। जबकि वर्तमान खगोल शास्त्रियों के अनुसार यह दूसरे ब्रह्मांड में जाने का द्वार भी हो सकता है, जिसकी शक्ति का इस्तेमाल करके हम काफी कम समय में दूसरे ब्रह्मांड में प्रवेश कर सकते हैं। जीव चेतना कैसे काम करती है सभी जीवो में चेतना है। हम अपने आसपास के वातावरण को समझ सकते हैं। हम अपने अस्तित्व के बारे में सवाल कर सकते हैं। हम अपना मकसद जानने की उत्सुकता रखते हैं तथा एक दूसरे जीवो से बातें करते हैं, जो हमें जीवो में सर्वोत्तम बनाती है। मगर विज्ञान इस नतीजे पर आज तक नहीं पहुंच पाया है कि यह कहां से आती है और कैसे काम करती है। सपने क्यों आते हैं साइंस इस बात का तो पता लगा चुका है कि हम सपने कैसे देखते हैं।

hindi may latest news

सोते समय जब हमारे दिमाग के नर्व सेल इलेक्ट्रिक सिग्नल का आदान प्रदान करते हैं तब हम सपने देखने लगते हैं। मगर हम सपने क्यों देखते हैं। इसका क्या कारण है। इसका आज तक किसी को भी पता नहीं चल सका है। क्या भूत होते हैं इस बारे में कुछ लोगों का मानना है कि भूत होते हैं, तो कुछ लोग भूत-प्रेत कुछ नहीं मानते हैं। यूं तो भूतों को देखे जाने और उनके सबूत के तौर पर भूतों की फोटो और वीडियो इंटरनेट पर भरी पड़ी है। मगर साइंस को अभी तक कोई ठोस प्रूफ नहीं मिला है, जिससे वो यह माने की भूत होते हैं।

इसके लिए साइंस ने इलेक्ट्रो मैग्नेटिक फील्ड डिटेक्टर और थर्मल इमेजिंग कैमरा भी बनाया था। लेकिन विज्ञान के हाथ ऐसा कुछ नहीं लगा जिससे यह सिद्ध हो कि भूत होते हैं। मगर कुछ लोग भूत होने का दावा करते हैं। अब आप हमें कमेंट करके बताइए कि आपके हिसाब से भूत होते हैं या नहीं।

Leave a Comment